कृषि वार्तादैनिक भास्कर
मौसम की मार से इस साल घट सकता है आम का उत्पादन
इस साल बाजार में आम पिछले साल से बहुत कम है। देश के सबसे बड़े आम उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश में आम की फसल पिछले साल से 45 से 50% तक कम आ रही है। साथ ही आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात में भी फसल उम्मीद के मुताबिक नहीं है। देश में आम उत्पादकों और व्यापारियों की सबसे बड़ी संस्था भारतीय मैंगो ग्रोअर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष इंशाराम अली बताते हैं कि देश में पिछले साल करीब 2 करोड़ टन तक आम आया था। इस साल उत्पादन 1.31 करोड़ टन रह सकता है। इस बार देशभर में उपज आधी रह सकती है।
हाल ही में उत्तर प्रदेश के प्रमुख आम उत्पादक क्षेत्रों में रेतीले तूफान ने फसल बर्बाद कर दी है। इस बार अनुमान था कि उत्तर प्रदेश में आम का उत्पादन 30 लाख टन तक होगा लेकिन रेतीले तूफान के कारण अब उत्पादन 20 से 22 लाख टन ही रह जाने की आशंका है। उत्तर प्रदेश के दशहरी आम की सप्लाई तंग रह सकती है। स्रोत – दैनिक भास्कर, 2 जून 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
36
0
संबंधित लेख