कृषी वार्ताकृषि जागरण
अब आपके लिए इन कृषि यंत्रों पर 100 फीसदी तक सब्सिडी, अभी करें आवेदन!
आधुनिक कृषि के लिए कृषि यंत्रों का होना बहुत जरूरी है। कृषि यंत्रों से जहां श्रम कम लगती है तो वहीं फसलों की पैदावार में वृद्धि होती है। लेकिन कुछ किसान आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने की वजह से महंगे कृषि यंत्र नहीं खरीद पाते है। इन्हीं बिन्दुओं के मद्देनज़र देश के लघु एंव सीमांत कृषकों को आधुनिक कृषि यंत्र किराये पर उपलब्ध करने के उद्देश्य से केंद्र सरकार ने देश में 42 हजार कस्टम हायरिंग बनाया है। कस्टम हायरिंग केंद्र खोलने के लिए एक भी रुपए नहीं लगेगा गौरतलब है कि मोदी सरकार ने अब इसी क्रम किसानों की समस्या का समाधान करने के लिए अब बड़ा कदम उठाया है। दरअसल कुछ पिछड़े राज्यों में सरकार ने खेती-किसानी से जुड़ी मशीनें लेने के लिए 100 फीसदी तक सब्सिडी देने का फैसला किया है। यानी किसान को अब एक भी रुपए अपनी जेब से कस्टम हायरिंग केंद्र खोलने के लिए नहीं लगाना होगा। खेती में मशीनीकरण को बढ़ावा खेती में मशीनीकरण को बढ़ावा देने के लिए केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने कृषि यंत्रीकरण उपमिशन नामक योजना शुरू की है। इसके अंतर्गत जुताई, बुवाई, पौधारोपण, फसल कटाई और वेस्ट मैनेजमेंट के लिए उपयोग में लाई जाने वाली मशीनों की खरीद अब आसान से हो सकेगी। कृषि यंत्रीकरण उपमिशन के तहत लैंड लेवलर, जीरो टिल सीड ड्रिल, हैप्पी सीडर, मल्चर आदि जैसे आधुनिक कृषि मशीनरी मिलेगा ताकि खेती आसान हो, उत्पादन बढ़े और आय दोगुनी हो जाए। कृषि यंत्रों के लिए 100 सब्सिडी दरअसल पूर्वोत्तर क्षेत्र के किसानों के लिए केंद्र सरकार की ओर से विशेष सुविधा दी गई है। जिसमें कस्टम हायरिंग केंद्र बनाने के लिए 100 फीसदी आर्थिक मदद देने का फैसला लिया गया है। हालांकि जिस योजना में शत प्रतिशत सब्सिडी है उसमें अधिकतम 1.25 लाख रुपए मिलेंगे। तो वहीं पूर्वोत्तर क्षेत्र के किसान समूहों यदि मशीन बैंक बनाने पर 10 लाख रुपए तक का खर्च करते हैं तो उन्हें 95 प्रतिशत सब्सिडी मिलेगी। गौरतलब है कि अन्य क्षेत्रों में सामान्य् श्रेणी वाले किसानों को 40 प्रतिशत मदद मिलेगी। जबकि एससी, एसटी, महिला व लघु-सीमांत किसानों के लिए 50 प्रतिशत की दर से सब्सिडी मिलेगी। CHC-Agricultural Machinery के लिए किसान कैसे करें आवेदन अगर कोई किसान कृषि यंत्रों पर सब्सिडी के लिए आवेदन करना चाहता है तो वह सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) पर जाकर https://register.csc.gov.in/ पर आवेदन कर सकता है। यहां जाकर किसान अपनी पसंद का यंत्र सीएससी संचालक को बता सकता है। इसके बाद सीएससी सेंटर संचालक आवेदन नंबर किसान को दे देगा। इसके साथ ही किसान साइबर कैफे आदि से भी आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए किसान को https://agrimachinery.nic.in/ पोर्टल पर जाकर आवेदन करना होगा। स्रोत:- कृषि जागरण, 14 सितंबर 2020, प्रिय किसान भाइयों यदि आपको दी गयी जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ जरूर शेयर करें धन्यवाद।
93
10
संबंधित लेख