कृषि वार्तालोकमत
वैज्ञानिकों को टमाटर की नई किस्में विकसित करने के निर्देश
नई दिल्ली। केंद्र ने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के वैज्ञानिकों को टमाटर की नई किस्में विकसित करने के निर्देश दिए हैं। यह निर्णय टमाटर की गुणवत्ता के संबंध में शिकायतों को देखते हुए किया गया है। इसका उद्देश्य कम पानी का उपयोग करके पौष्टिक और स्वादिष्ट टमाटर का उत्पादन करना है। उत्पाद की खराब गुणवत्ता के कारण, टमाटर व्यापारियों को भारी नुकसान हुआ है। उनके द्वारा खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय को सूचीबद्ध शिकायत में कहा गया है कि भंडारण की खराब सुविधाएं उपलब्ध होने के कारण टमाटर समय से पहले फल खराब हो जाता है। स्रोत - लोकमत, 7 जुलाई 2019
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
45
0
संबंधित लेख