कीट जीवन चक्रएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
लीफ माइनर का जीवन चक्र
आर्थिक महत्व:- लीफ माइनर कीट की इल्ली पट्टीयों के अंदर सुरंग बना कर यह पट्टीयों के हरित लवण को खाकर नुकसान पहुँचाती है, तथा इसके प्रकोप से पत्तियां सूख जाती है। इसके प्रभाव से पत्तियों पर सफ़ेद लाइन बन जाती हैं। यह मुख्य रूप से टमाटर, मिर्च, सोयाबीन, गिलकी, ककड़ी आदि फसलों को नुकसान पहुँचती है। _x000D_ जीवन चक्र _x000D_ अंडा:- मादा मक्खी 13 दिनों के भीतर पत्तियों के सेल के अंदर 160 तक अंडे देती है। यह अंडे 2 से 3 दिनों के अंदर फूटते हैं। _x000D_ इल्ली:- लीफ माइनर कीट की इल्ली पट्टीयों के अंदर सुरंग बनाती है, एवं हरित पदार्थ को खाती है। जिससे पत्तियों पर टेढ़ी-मेढ़ी संरचनाएं बनाती हैं। _x000D_ कृमिकोष:- लीफ माइनर कीट की इल्ली 2 से 20 दिनों के अंदर जमीन के अंदर कोषावस्था में परिवर्तित हो जाती है। _x000D_ प्रौढ़:- लीफ माइनर कीट की कोषावस्था से 6 से 22 दिनों दिनों के बाद बाहर आता है, एवं इसकी सालभर में कई पीढ़ियां पाई जाती हैं। एवं यह पीले रंग का पीठ पर काली धरियों वाला होता है। _x000D_ नियंत्रण:- डिमेथोएट 30 ईसी @ 264 मिलीलीटर 300 पानी के साथ या ऑक्सिडेमेटन - मिथाइल 25% ईसी @ 1200 मिलीलीटर 300 पानी के साथ या नीम आधारित कीटनाशक 1 ईसी @ 2 मिलीलीटर प्रति लीटर पानी के साथ मिलाकर छिड़काव करें।_x000D_ नोट :- विभिन्न फसलों के अनुसार दवाइयों की मात्रा अलग अलग रहती है।_x000D_ स्रोत: एग्रोस्टार एग्रोनॉमी सेंटर एक्सीलेंस_x000D_ यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।_x000D_
62
0
संबंधित लेख