आज का सुझावपशु चिकित्सक
भेड़ बकरियों में पाया जाने वाला पीपीआर रोग के लक्षण
इस महामारी में पशुओं के मुँह में छाले पड़ते हे, बुखार आना, जानवर में भोजन की अरुचि, निमोनिया होना और समय पर निदान न मिले तो पशु की मौत भी हो सकती है। इस तरह के लक्षण दिखाई देने वाले जानवरों को तुरंत समूह से अलग किया जाना चाहिए, अन्यथा यह बीमारी नाक के पानी, श्वास और मल के माध्यम से अन्य जानवरों को होने की अधिक संभावना है।
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
152
0
संबंधित लेख