कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
स्टार्च मिलें यूक्रेन से मक्का कर रही हैं आयात
नई दिल्ली। स्टार्च मिलें यूक्रेन से एडवांस लाइसेंस के तहत नॉन जीएम मक्के का आयात कर रही हैं। केंद्र सरकार ने अप्रैल 2019 में 15 फीसदी के आयात शुल्क की दर से एक लाख टन नॉन जीएम मक्का के आयात की अनुमति दी थी। यूएस ग्रेन काउंसिल के भारतीय प्रतिनिधि अमित सचदेव ने बताया कि यूक्रेन से 205 डॉलर प्रति टन की दर से एडवांस लाइसेंस के तहत मक्का आयात हो रहा है, इसके तहत आयातकों को आगे इसका निर्यात करना होगा। उन्होंने बताया कि अभी तक करीब 80 हजार टन से ज्यादा मक्के का आयात हो चुका है। मक्के का आयात बंदरगाह के आस-पास स्थित स्टार्च मिलें ही कर रही हैं।
आयातित मक्के का भाव भारतीय बदंगाह पर पहुंचकर 205 डॉलर प्रति टन है, इसमें परिवहन लागत एवं अन्य खर्च मिलाकर बंदरगाह के नजदीक स्थित स्टार्च मिलों में पहुंचकर मक्के का भाव 1,750 से 1,800 रुपये प्रति क्विंटल है। कृषि मंत्रालय के दूसरे आरंभिक अनुमान के अनुसार 2018-19 में रबी सीजन में मक्का का उत्पादन 75.8 लाख टन होने का अनुमान है जबकि पिछले साल रबी में 76.3 लाख टन का उत्पादन हुआ था। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 10 मई 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
21
0
संबंधित लेख