कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
सोयाबीन का आयात बढ़कर तीन लाख टन होने का अनुमान
नई दिल्ली। सोयाबीन के उत्पादक राज्यों में बेमौसम बारिश और बाढ़ से सोयाबीन की फसल को नुकसान हुआ है जिससे चालू फसल सीजन में आयात बढ़कर तीन लाख टन होने का अनुमान है जबकि पिछले फसल सीजन में 1.80 लाख टन का आयात हुआ था। सोयाबीन प्रोसेसर्स एसोसिएशन आफ इंडिया (सोपा) के अनुसार चालू फसल सीजन 2019-20 में सोयाबीन का उत्पादन घटकर 89.84 लाख टन ही होने का अनुमान है जबकि पिछले साल 109.33 लाख टन का उत्पादन हुआ था। नई फसल की आवक के समय उत्पादक राज्यों में 1.70 लाख टन सोयाबीन का बकाया स्टॉक बचा हुआ था, अत: चालू सीजन में कुल उपलब्धता 91.54 लाख टन की बैठेगी। सोपा के उपाध्यक्ष नरेश गोयनका ने बताया कि चालू सीजन में सोयाबीन की कुल उपलब्धता कम है, जिस कारण आयात पिछले साल से ज्यादा ही होगा। उन्होंने बताया कि
मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र की मंडियों में सोयाबीन के भाव 4,000 से 4,050 रुपये और प्लांट डिलीवरी भाव 4,150 से 4,200 रुपये प्रति क्विंटल चल रहे हैं। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 9 दिसंबर 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
142
0
संबंधित लेख