AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
19 Feb 20, 01:00 PM
कृषि वार्ताकृषि जागरण
वैज्ञानिकों ने विकसित की गेहूं की नवीनतम किस्म
मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले के पवारखेड़ा स्थित कृषि अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिकों ने गेहूं की कई किस्में ईजाद की है। गेहूं की इन किस्मों को लेकर उनका दावा है कि नई किस्म की फसल की पैदावार डेढ़ गुना यानी एक हेक्टेयर में 55 से 60 क्विंटल होगी, जो कि अभी 35 से 40 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है।
गेहूं की नई किस्मों का परीक्षण करने के बाद केंद्रीय कृषि अनुसंधान केंद्र दिल्ली ने मान्यता भी दे दी है। मान्यता मिलने के बाद अनुसंधान केंद्र पवारखेड़ा प्रबंधन ने नई किस्म के बीजों का वितरण पिछले साल किसानों व सहकारी समितियों को किया था, जिसके परिणाम अब गेहूं की तैयार हो रही फसल को देखने पर नजर आ रहे हैं। गौरतलब है कि कृषि अनुसंधान केंद्र पवारखेड़ा ने इसी वर्ष गेहूं की जेडब्ल्यू 1201, जेडब्ल्यू 1202 और जेडब्ल्यू 1203 किस्में ईजाद की हैं। इन किस्मों पर काम कई वर्षों से चल रहा था। गेहूं की इन नई किस्मों का परीक्षण पिछले साल केंद्रीय कृषि अनुसंधान केंद्र ने किया था। परीक्षण के बाद इन किस्मों को मान्यता मिल गई। इससे पहले भी पवारखेड़ा अनुसंधान केंद्र ने गेहूं की कई किस्में ईजाद की हैं। स्रोत- कृषि जागरण, 18 फरवरी 2020 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो लाइक करें और अपने सभी किसान मित्रों के साथ शेयर करें।
149
14