पशुपालनपशु चिकित्सक
गर्मियों में पशुओं का वैज्ञानिक उपचार
शेड में प्रमुख बदलाव करके: • ग्रीष्म ऋतू में इसके माध्यम से पशुओं को सूरज की रोशनी के सामने लंबे समय तक सीधे संरक्षित किया जा सकता है। • शेड के आसपास घास, पेड़ पौधे लगाने से पशु को गर्मी से राहत मिलती है। • रात्रि के समय पशुओं को खुल्ले बाड़ में रखे। पानी का छिड़काव: गर्मी के मौसम में पशुओं के शरीर पर पानी का छिड़काव करने से पशु के शरीर तापमान को कम किया जा सकता है। शेड मे सुबह 11 से 3 के बीच तीन से चार बार छिड़काव करना चहिये। बड़े डेयरी फार्म में फुवारा लगाकर छिड़काव किया जा सकता है।
पशु आहार में बदलाव करके: • चारे के उन्मूलन की आवृत्ति को 3 से 4 गुना तक बढ़ाएं, और इसको सुबह शाम के समय में खिलाएं, आहार में फाइबर की मात्रा कम करें और उच्च गुणवत्ता वाला आहार प्रदान करें। चारा घास शरीर में अधिक गर्मी पैदा करता है। • यदि पशुओं को रात में चराने के लिए ले जाना संभव है, तो इसके दो लाभ होंगे, एक दिन की गर्मी से प्रभावित नहीं होंगे और दूसरे दिन के दौरान शरीर में अवशोषित गर्मी रात में विघटित हो सकती है। स्रोत:- एग्रोस्टार एनिमल हसबेंडरी एक्सपर्ट क्या आपको यह जानकारी उपयोगी लगी? तो लाइक करें और अपने किसान मित्रों के साथ साझा करें।
132
0
संबंधित लेख