AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
15 Mar 20, 06:30 PM
पशुपालनपशु चिकित्सक
गर्मी के मौसम में पशुओं का वैज्ञानिक इलाज
• तापमान में परिवर्तन होने से इसका असर पशु पर भी दिखाई दे सकता है। जिससे कई बार जानवर तनाव महसूस करता है। • ज्यादा तापमान के कारण पशु की चबाने की गति कम हो जाती है, जिससे खाद्य का सेवन कम हो जाता है। • लंबे समय तक गर्मी के दिनों और सूरज के सीधे तापमान से पशुओं को हीट स्ट्रोक या सनस्ट्रोक हो सकता है। कई बार इसके कारण जानवर की मृत्यु भी हो जाती है। • गर्मीं के कारण पशु के व्यवहार में परिवर्तन होता है, इन परिवर्तनों को जानकर जल्द निदान करना चाहिए। गर्मी के दिनों में पशुओं में होने वाले परिवर्तन इस प्रकार हैं • उच्च श्वास दर: पशु की श्वसन दर 15 से 20 गुना बढ़ जाती है। जिसे शरीर के बाएं ओर त्वचा की गति के द्वारा पहचाना जा सकता है। पशु के ज्यादा हांफने पर स्थिति भयानक बन जाती है। इसके अलावा, शरीर का तापमान बढ़ जाता है। • मुंह खुला रखकर सांस लेना : यह अंतिम स्थिति में तनाव का संकेत है, जिसमें जानवर मुंह से आगे की ओर जीभ बाहर निकालकर पैर चौड़ा करके खड़ा रहता है। • इस लेख की और जानकारी हम 22 मार्च को जानेंगे । स्रोत: एग्रोस्टार पशु विशेषज्ञ यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगती है, तो इसे पसंद करें और अपने किसान मित्रों के साथ साझा करें।
503
6