कृषि वार्ताकृषि जागरण
सैटेलाइट से होगा बर्बाद हुई फसलों का आकलन, होगा फायदा
केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने, किसानों को राहत देते हुए बताया कि जिन किसानों की फसलें मौसम या आपदाओं की वजह से बर्बाद हुई हैं, उनका आकलन उपग्रह द्वारा किया जाएगा। इससे किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ मिल पाएगा, साथ ही फसल के मुआवजे में पारदर्शिता आएगी।
अगर इस तकनीक से किसानों की फसल के नुकसान का आकलन होगा, तो उसमें किसानों को शिकायत करने का मौका नहीं मिलेगा। अगर पटवारी आकलन में गड़बड़ी करता है या फिर खेतों को शामिल नहीं करता है, तो इसकी रिपोर्ट भी जल्द से जल्द सरकार तक पहुंच जाएगी। इस तकनीक के द्वारा किसानों को समय पर मुआवजा मिल पाएगा। इस तकनीक पर पायलट प्रोजेक्ट के तहत काम किया जाएगा। बता दें कि देश के 10 राज्यों के करीब 96 जिलों में इसकी शुरुआत भी हो चुकी है। स्रोत – कृषि जागरण, 19 मार्च 2020 इस उपयोगी जानकारी को लाइक करें और अपने किसान मित्रों के साथ शेयर करें।
40
0
संबंधित लेख