सलाहकार लेखकृषि जागरण
पॉलीहाउस में संरक्षित खेती
पॉलीहाउस एक प्रौद्योगिकी से संचालित होने वाला कांच या पॉलीथीन का घर नुमा खेती का स्थान है, जिसमें तकनीक की मदद से, वातावरण के तापमान और नमी को नियंत्रित किया जाता है। यहां जिन फसलों का मौसम नहीं होता उन्हें भी आसानी से उगाया जा सकता है और इनका गुणवत्तापूर्ण उत्पादन प्राप्त कर सकते हैं। पॉलीहाउस की संरचना का आकार जरूरत के अनुसार छोटा और बड़ा हो सकता है। • पॉलीहास एक प्रकार का ग्रीनहाउस है या जहां पॉलिथीन को कवर के रूप में उपयोग किया जाता है। • भारत जैसे विकासशील देशों में, पॉलीहास खेती एक लोकप्रिय ग्रीनहाउस तकनीक है, पॉलीहाउस को कम लागत में तैयार किया जा सकता है और इसका आसानी से रखरखाव कर सकते हैं। • पॉलीहाउस में आप कम जगह में भी अधिकतम और गुणवत्तापूर्ण उत्पादन प्राप्त कर सकते हैं। • लथहॉउस एक ग्रीनहाउस तकनीक है जिसमें ग्रीनहाउस को लकड़ी से कवर किया जाता है। • पॉलीहाउस को कम लागत में भी बनाया जा सकता है। • किसानों को सरकार के माध्यम से ग्रीन हाउस के निर्माण के लिए सब्सिडी दी जाती है।
पॉलीहाउस में उगाई जाने वाली फसल • पॉलीहाउस में खीरा, स्ट्रॉबेरी और हरी सब्जियों जैसी फसलें उगाई जा सकती हैं। जैसे- पत्तागोभी, फूलगोभी, धनिया, शिमला मिर्च, टमाटर, आदि। • कार्नेशन, जरबेरा, गेंदा, ऑर्किड और गुलाब जैसे फूल भी पॉलीहाउस में आसानी से लगाए जा सकते हैं। संदर्भ - कृषि जागरण यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
479
0
संबंधित लेख