AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
07 Jan 20, 03:00 PM
फलों का प्रसंस्करणएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
पपीता से .टूटी फ्रूटी की तैयारी
पपीते के फल को फसल से साल भर प्राप्त किया जाता है। लेकिन दूर के बाजारों के लिए उपयुक्त नहीं है। इसलिए, पपीते को संसाधित करना आवश्यक है। आइए जानते हैं पपीता टुटी फ्रूटी प्रक्रिया के बारे में।
टूटी फ्रूटी बनाने की विधि: - 1.टूटी फ्रूटी बनाने के लिए कच्चे फलो (ग्रीन) का चयन किया जाना चाहिए। 2. चयनित फलो को साफ पानी से धोया जाना चाहिए। 3. पपीते को लंबवत काट लीजिए और उसके ऊपर की हरे छाल, बीज और उसके निचेवाली सतह का पतले छाल निकाल दीजिये । 4. उसके बाद चाकू के द्वारा छोटे- छोटे चौकोर आकार में काटें। काटने के लिए फ्रेंच फ्राई कटर का उपयोग करना सही रहेगा। 5. इन टुकड़ों को उबले हुए पानी में 15 -20 मिनिट उबालकर लीजिए। उसके बाद पानी में से पपीते के टुकड़ो को निकालकर जालीदार छन्नी में रखिए। 6.टुकड़ों को ४० प्रतिशत चीनी की चासनी में 15 से 20 मिनट तक या तब तक पकाएं जब तक कि टुकड़े पारदर्शक दिखे नही तब तक पकने दीजिए । 7. अगले दिन, चासनी से निकालकर चासनी में शक्कर डालिए और कुछ समय के लिए उबाल लें और 60 प्रतिशत तीव्रता में चासनी को ठंडा करे।और फिरसे पपीते के टुकड़े उसमे डालकर घुलने दीजिये। उसी दिन,अपनी पसंद के खाने के रंग और इसेन्स डालिये । 9. चौथे दिन, टुकड़ों को डिश से निकालकर रखे और छन्नी द्वारा अतिरिक्त चासनी निकाल लीजिये। एक बार पानी से धो लेने के बाद, टुकड़ों को एक समान ट्रे में फैलाएं और उन्हें 2 से 3 दिनों के लिए सूखने दें। ड्रायर में ट्रे को 55 ° C पर रखें और इसे 24 से 48 घंटों के लिए सूखने दें। 10. अंत में, टूटी फ्रूटी तुरंत प्लास्टिक के बैग में सीलबंद करके ठंडे और सूखे जगह पर रखे। स्रोत - एगोस्टार एग्रोनॉमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगती है, तो फोटो के नीचे पीले अँगूठे के आइकन पर क्लिक करें और नीचे दिए गए विकल्प के माध्यम से अपने सभी कृषि मित्रों के साथ साझा करें!
135
0