जैविक खेतीएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
जैविक किट नियंत्रक (अग्नियास्त्र)
अग्नियास्त्र फसल में कीट नियंत्रण के लिए एक जैविक उपचार का माध्यम है। इसे कम खर्च में तैयार किया जा सकता है। आइए जानते हैं कि इसे किस तरह से तैयार किया जाता है। जरुरी सामग्री: गोमूत्र 200 लीटर नीम के पत्ते पिसे हुए 02 किलो तंबाकू पाउडर आधा किलो तीखी हरी मिर्च पिसी हुई आधा किलो देसी लहसुन पिसा हुआ 125 ग्राम हल्दी पाउडर 200 ग्राम
बनाने की विधिः इन सभी मिश्रण को मिलाकर बाएं से दाएं लकड़ी से घोलें। फिर ढककर रखें और धीमी आंच पर एक उबाल लें इसके बाद ठंडा होने दें। दिन में दो बार घोलें। इस घोल को ढककर छांव में रखें। घोल को बारिश के पानी और सूरज की रोशनी से बचायें। बारिश और गर्मी के मौसम में दो दिन और ठंडी में चार दिन रखें। कपड़े से छानकर भंडारण करें। तीन महीने तक इसका उपयोग किया जा सकता है। इससे लगभग सभी कीट नियंत्रित होते है । प्रयोग की विधि: 100 लीटर पानी में 3 लीटर या 15 लीटर पंप के पानी में 300-400 मिली अग्नियास्त्र मिलाकर छिड़काव करें। इससे बड़ी इल्लियां नियंत्रित होती हैं। संदर्भ - एग्रोस्टार एग्रोनॉमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस। यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
855
3
संबंधित लेख