कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
प्याज के उत्पादन अनुमान में आई कमी के कारण कीमतों में तेजी : कृषि मंत्री
नई दिल्ली। सरकार ने संसद में कहा कि इस साल प्याज की 69.9 लाख टन पैदावार का अनुमान था लेकिन बदली परिस्थितियों में 53.73 लाख टन उत्पादन की संभावना है। जिससे कीमतों में तेजी आई है। सरकार इस 15.88 लाख टन प्याज की कमी को दूर करने के लिए विभिन्न उपाय कर रही है। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने लोकसभा में विभिन्न कारणों से फसलों को होने वाले नुकसान और किसानों पर इसके प्रभाव के बारे में चर्चा का उत्तर देते हुए यह बात कही। तोमर ने कहा कि देश में प्याज का उत्पादन तीन मौसमों में होता है। सर्वाधिक 70 फीसदी रबी में, 20 फीसदी खरीफ में तथा 10 फीसदी लेट खरीफ में उत्पादन होता है।
उन्होंने कहा कि मानसून के आखिरी दिनों में अत्यधिक वर्षा के कारण फसलों को नुकसान हुआ है। क्षति की भरपाई के लिए किसान फसल बीमा योजना के तहत भुगतान और राष्ट्रीय आपदा राहत बल और राज्य आपदा राहत बल द्वारा भुगतान किये जाने की भी जानकारी दी। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 12 दिसंबर 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
142
0
संबंधित लेख