जैविक खेतीएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
कीट नियंत्रण के लिए नीम अर्क तैयार करने की विधि
नीम का अर्क फसलों के लिए बहुत किफायती कीटनाशक है, जो आमतौर पर कीट नियंत्रण के लिए उपयोग किया जाता है। सभी फसलों जैसे कि सब्जियां, अनाज, फलियां, कपास, और अन्य में इसका उपयोग कीटनाशक के रूप में किया जाता है। नीम से अर्क निकालने की विधि : यदि नीम के बीज उपलब्ध नहीं हैं तो बाजार में उपलब्ध नीम पाउडर का उपयोग अर्क बनाने के लिए किया जा सकता है। नीम का अर्क बनाने के लिए प्लास्टिक की बाल्टी में 5 किलो नीम पाउडर को 10 लीटर पानी में रातभर भिगो कर रखें। रात भर नीम के पाउडर को भिगोने के बाद सावधानी से छान लें! नीम अर्क के अच्छी तरह से फ़िल्टर किए गए मिश्रण को 100 लीटर पानी के साथ मिश्रित किया जाना चाहिए और उसे ढककर रखाना चाहिए और इसे पौधों पर छिड़काव करना चाहिए। नीम के अर्क के लाभ: 1. संपूर्ण नीम का अर्क प्राकृतिक स्रोतों से आता है, यह किफायती है और बनाने में आसान है। 2. नियमित रूप से नीम का अर्क 15 दिनों के अंतराल पर छिड़काव करने से रस चूसने वाले कीटों का प्रकोप कम हो जाता है। 3. कीटों और पतंगों के जीवन चक्र में, अंडे देने और चूसने वाले कीटों की रोकथाम की जाती है और अंडे देने की प्राकृतिक प्रक्रिया भी प्रतिबंधित हो जाती है। 4. जैविक खेती में उपयोग करना सरल है क्योंकि इसमें प्राकृतिक तत्व होते हैं रासायनिक तत्व नहीं होते। 5. निर्यात की जाने वाली सब्जियों, फसलों में छिड़काव लाभदायक है। 6. कीटनाशकों के साथ-साथ एकीकृत कीट प्रबंधन विधि के साथ उपयोग करना बहुत सरल है। 7. सफेद मक्खी, हरा तेला, थ्रिप्स और कई अन्य प्रकार के सुंडी (इल्लियों) को अच्छी तरह से नियंत्रित करता है। नीम के अर्क का फसल में सुंडी (इल्ली) अवस्था में छिड़काव करना चाहिए। स्रोत: श्री तुषार उगले, कृषि कीटविशेषज्ञ
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
516
1
संबंधित लेख