कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
खेती में खाद का उपयोग संतुलित तरीके से करने की जरूरत-कृषि मंत्री
नई दिल्ली। देश की जीडीपी में कृषि क्षेत्र की हिस्सेदारी मौजूदा 14 फीसदी से बढ़ाकर 50 फीसदी करने की_x000D_ आवश्यकता है, इसके लिए खेती में खाद का उपयोग संतुलित तरीके से करने की जरूरत है। केंद्रीय कृषि_x000D_ मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि मृदा स्वास्थ्य और सही मात्रा में खाद का उपयोग फसलों की उत्पादकता_x000D_ बढ़ाने में मदद करता है।_x000D_ किसानों के बीच उर्वरक उपयोग के बारे में जागरूकता के लिए दिल्ली में आयोजित सम्मेलन में_x000D_ उन्होंने कहा कि खरीफ के साथ ही रबी फसलों के उत्पादन और उत्पादकता के लिए खादों का उपयोग_x000D_ उचित मात्रा में करना चाहिए, साथ ही मिट्टी की स्थिति के अनुसार खाद डालनी चाहिए। उन्होंने कहा कि_x000D_ उर्वरकों के संतुलित उपयोग से किसानों की आय भी बढ़ेगी।_x000D_ उन्होंने कहा कि उर्वरकों के अत्यधिक उपयोग से खेत के सूक्ष्म पोषक तत्वों को नुकसान होता है।_x000D_ मृदा स्वास्थ्य में सुधार के लिए सूक्ष्म पोषक तत्वों की ज्यादा जरूत है। कृषि मंत्री ने किसानों से फसल_x000D_ अवशेषों को न जलाने का आग्रह किया, क्योंकि इससे खेत के पोषक तत्वों को नुकसान होता है, साथ ही_x000D_ वायु प्रदूषण फैलता है।_x000D_ स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 22 अक्टूबर 2019
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
93
0
संबंधित लेख