कीट जीवन चक्रएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
बैंगन की फसल में शीर्ष एवं फल बेधक कीट का जीवन चक्र!
फल एवं शीर्ष बेधक कीट बैंगन का एक प्रमुख और नियमित कीट है, जिससे 30 -50% तक नुकसान होता है। आइए देखें इस कीट के चरणों और इसे नियंत्रित करने के विधी। अंडा: मादा प्रौढ़ कीट पत्तियों के नीचे और फूलों की कलियों पर अंडे देती है। अंडे मलाईदार सफेद रंग के होते हैं। अंडे की अवस्था 3 -5 दिनों की होती है। इल्ली: इल्ली गुलाबी रंग की होती है। यह अवस्था 12-15 दिनों तक रहती है। इल्ली आमतौर पर शीर्ष और फलों में छेद करके फसल को नुकसान पहुंचते है। यह अंडे से निकलने के बाद इल्ली शीर्ष और फलों में छेद करती है और अंदर के खाद्य पदार्थ को खा कर नुकसान पहुँचती है। कृमिकोष: यह जमीन पर सूखे पत्तों के नीचे रहते हैं। यह अवस्था 6-17 दिनों तक रहती है। कृमिकोष नाव के आकार के साथ रंग में आकर्षक है। प्रौढ़: मध्यम आकार का पतंगा होता है। इसके पंखो पर में काले और भूरे रंग के धब्बे होते हैं और सफेद रंग पर छोटे धब्बे होते हैं, पिछले पंख पर काले धब्बे होते हैं। मादा कीट लगभग 250 अंडे देती है।
क्षति के लक्षण: • बैंगन की ऊपरी शाखा मुरझा जाती है। • शीर्ष और फलों में छेद करके इल्ली अपने मलमूत्र छेद को बंद कर देती है। • फूलों की कलियों को को भी नुकसान पहुँचती है। • पत्तियों का सूखना और मुरझाना इसके लक्षण हैं। प्रबंधन: • प्रभावित पौधों एवं फलों को हटा दें या नष्ट कर दें। • फेरोमोन ट्रैप @ 5- 6 प्रति एकड़ स्थापित करें। • जब पौधों पर कीट के अंडे दिखाई देने पर नीम आधारित दवाइयों का छिड़काव करें। • ग्रीष्मकालीन गहरी गर्मी की जुताई करें। • थियाक्लोप्रिड 21.70% एससी @ 300 मिली या थायोडाइकार्ब 75% डब्ल्यूपी @ 400 ग्राम या साइपरमेथ्रिन 3% + क्विनालफॉस 20% ईसी @ 160 मिली लीटर 200 लीटर पानी का छिड़काव करें। स्रोत: एग्रोस्टार एग्रोनॉमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस यदि आपको दी गई जानकारी उपयोगी लगे तो लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ साझा करें। स्रोत: एग्रोस्टार एग्रोनॉमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस यदि आपको दी गई जानकारी उपयोगी लगे तो लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ साझा करें।
28
0
संबंधित लेख