कृषि वार्ताएग्रोवन
देश का पहला जैविक कृषि विज्ञान केंद्र कोल्हापुर में खुलेगा
कोल्हापुर। देश का पहला जैविक कृषि विज्ञान केंद्र महाराष्ट्र के कोल्हापुर स्थित कनेरी के सिद्धगिरी मठ में खोला जाएगा। इसके माध्यम से जैविक खेती को बढ़ावा देने और इस विषय पर अनुसंधान करने में मदद मिलेगी। केंद्र सरकार ने कुछ महीने पहले ही इसके लिए मंजूरी दी थी। अब, इस पर वास्तविक काम शुरू हो गया है। केंद्र ने इसके लिए किसानों को संगठित करने का काम भी शुरू कर दिया है। केंद्र सरकार के पास फिलहाल 65 एकड़ जमीन है। इस जमीन पर जैविक विधि से फसल की खेती करने के तरीकों के बारे में प्रत्यक्ष बताया जाएगा। जिससे किसानों को जैविक खेती के बारे में नई जानकारी मिल सके। फिलहाल, मठ की ओर से लखपति कृषि की नई योजना चल रही है। इस सुविधा में और अधिक तकनीकी विधियों को जोड़कर जैविक खेती की योजना बनाई जाएगी।
जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए कनेरी मठ में इस नए संस्थान के प्रस्ताव को केंद्र ने मंजूरी दे दी है। इस संस्थान के तहत करवीर, कागल, चंदगढ़, गढ़िंगलाज, भूदरगढ़ और अजारा तहसील के किसानों के लिए विशेष काम किया जाएगा। केंद्र इस तहसील में जैविक खेती को बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। संदर्भ – अॅग्रोवन , 07 फरवरी 2019
70
0
संबंधित लेख