कृषि वार्तासकाल
अगले दस वर्षों में 5 लाख हेक्टेयर भूमि उपजाऊ होगी
नई दिल्ली। केंद्रीय वन और पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सरकार ने अगले दस वर्षों में देश की 50 लाख हेक्टेयर भूमि को उपजाऊ बनाने का लक्ष्य रखा है। पर्यावरण की रक्षा के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा किए गए उपायों के बीच, पृथ्वी पर बंजर भूमि के बढ़ते अनुपात को रोकने के लिए ‘कांफ्रेंस ऑफ पार्टीज’ ‘कॉप-14’ का वैश्विक सम्मेलन दिल्ली में 2 से 13 सितंबर तक आयोजित किया गया है। जिसमें, भूमि हानि को रोकने के उपायों पर 'दिल्ली घोषणा' प्रकाशित की जाएगी। उन्होंने घोषणा की कि इस समस्या को दूर करने के लिए केंद्र द्वारा देहरादून में एक उत्कृष्टता केंद्र स्थापित किया जाएगा। मरुस्थलीकरण को रोकने के लिए संयुक्त राष्ट्र की पहल के एक भाग के रूप में 'कॉप -14' नामक एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन हर दो साल में आयोजित किया जाता है। इसका शीर्षक अब भारत में है। भारत पर इस समस्या का हल खोजने और अगले दो वर्षों में वैश्विक समुदाय का मार्गदर्शन करने की जिम्मेदारी होगी। भारत में, कुल बंजर भूमि का लगभग एक-तिहाई हिस्सा और रेगिस्तानी भूमि 96 लाख हेक्टेयर है, जो कि 29% है। अगले दस वर्षों में, सरकार ने 50 लाख हेक्टेयर भूमि को पुनर्जीवित करने का लक्ष्य रखा है। स्रोत - सकाल, 28 अगस्त 2019
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
48
0
संबंधित लेख