सलाहकार लेखNavbharat Times
रेनवाटर हार्वेस्टिंग करने का तरीका
जल ही जीवन है। अगर यह जीवन है तो बेशक यह अनमोल है और ऐसी अनमोल चीज की कद्र भी जरूरी है। पानी हमें हमेशा मिलता रहे, इसके लिए रेनवॉटर हार्वेस्टिंग जरूरी है। आइए जानें, कैसे करें रेनवॉटर हार्वेस्टिंग और क्या हैं इसके फायदे।_x000D_ क्यों है जरूरी_x000D_ • भूजल के जबर्दस्त दोहन से लगातार पानी का स्तर नीचे जा रहा है। इससे पेयजल की किल्लत हो रही है।_x000D_ • बारिश का पानी यूं ही बहकर बर्बाद हो जाता है जबकि उसे बचाकर साल भर इस्तेमाल किया जा सकता है।_x000D_ • इससे पेड़-पौधों की संख्या में बढ़ोत्तरी होगी।_x000D_ • बड़े शहरों में पानी की समस्या में बहुत हद तक कमी आ सकती है।_x000D_ कैसे करें हार्वेस्टिंग_x000D_ सबसे पहले इसे सही तरीके से समझने की जरूरत है। बारिश के पानी को हम जहां से भी ज्यादा-से-ज्यादा इकट्ठा कर सकते है, रेनवॉटर हार्वेस्टिंग वहीं होनी चाहिए। छत इसके लिए सबसे सही जगह होती है। सोसायटीज और खुद की जमीन पर अपने हिसाब से घर बनाने वालों के लिए वॉटर हार्वेस्टिंग आसान है और इसे अनिवार्य भी बनाया जा रहा है। _x000D_ _x000D_ इस तरीके से होती है हार्वेस्टिंग_x000D_ 1. स्टोरेज_x000D_ इसमें बारिश के पानी को सीधे उपयोग करने के लिए जमा किया जाता है। इसमें रेनी फिल्टर प्रयोग में लाया जाता है और इसकी वजह से यह पानी अमूमन साफ रहता है। यह तरीका उन इलाकों में ज्यादा कारगर है जहां पर जमीन के नीचे का पानी खारा है या फिर बारिश बेहद कम होती है। इस पानी को घर की सफाई और बागवानी में इस्तेमाल कर सकते हैं।_x000D_ 2. रिचार्ज_x000D_ जहां का पानी मीठा हो, वहां धरती के नीचे बारिश का पानी भेजकर ग्राउंड वॉटर को रिचार्ज किया जा सकता है। इस पानी को हम मनमर्जी से खर्च नहीं कर सकते, लेकिन इस तरीके से जमीन के अन्दर मौजूद मीठे पानी के स्तर को बढ़ाया जाता है। इसके लिए खास तरह का गड्डा खोदना पड़ता है। _x000D_ क्या रखें ध्यान_x000D_ • ऐसे रिचार्ज पिट इमारत की फाउंडेशन या बेसमेंट से कम से कम 5 मीटर पर हो।_x000D_ • ऊपर लिखे फिल्टर मीडिया की जगह पर मल्टिपल लेयर में ‘‘जूट मैट’’ का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।_x000D_ • रिचार्ज स्ट्रक्चर की गहराई 1 से 4 मीटर तक हो।_x000D_ • छत पर किसी भी तरह का केमिकल, जंग लगा हुआ लोहा, खाद या सर्प आदि नहीं होना चाहिए।_x000D_ स्रोत : नवभारत टाइम्स, 28 जुलाई 2019
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
118
0
संबंधित लेख