कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
गेहूं की सरकारी खरीद 17 फीसदी घटी
नई दिल्ली। चालू फसल सीजन 2018-19 में देश में गेहूं की रिकार्ड पैदावार 10.12 करोड़ टन होने के बाद भी न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीद पिछले साल की तुलना में 17.33 फीसदी घटकर केवल 340.62 लाख टन की हुई है जबकि पिछले साल 357.95 लाख टन गेहूं खरीदा गया था। समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद में कमी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान में दर्ज की गई। एफसीआई के अनुसार चालू रबी में समर्थन मूल्य पर 340.62 लाख टन गेहूं ही खरीदा गया है जबकि खरीद का लक्ष्य केंद्र सरकार ने 357.95 लाख टन का तय किया था। पिछले रबी में समर्थन मूल्य पर 356.50 लाख टन गेहूं की खरीद हुई थी। कृषि मंत्रालय के तीसरे आरंभिक अनुमान के अनुसार फसल सीजन 2018-19 में गेहूं का रिकार्ड उत्पादन 10.12 करोड़ टन होने का अनुमान है जबकि पिछले साल 9.98 करोड़ टन का उत्पादन हुआ था।
केंद्रीय पूल में पहली जून को गेहूं का बफर स्टॉक 465.60 लाख टन का है जो पिछले साल की समान अवधि के 437.55 लाख टन से ज्यादा है। सरकार खुले बाजार बिक्री योजना (ओएमएसएस) के तहत 2,080 रुपये क्विंटल की दर से गेहूं बेच रही है। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 22 जून 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
15
0
संबंधित लेख