कृषि वार्ताकृषि जागरण
सरकार ने कृषि क्षेत्र के लिए अतिरिक्त राहत उपायों की घोषणा की!
देशव्यापी लॉकडाउन की स्थिति के बीच, सरकार ने हाल ही में कृषि क्षेत्र को राहत देने की घोषणा की है। गृह मंत्रालय ने कृषि मशीनरी के अंतर-राज्य परिवहन के लिए पहले ही छूट दे दी थी, लेकिन खेती से जुड़े काम करने वाले लोग संबंधित उद्योग के चालू न होने के कारण लाभ प्राप्त नहीं कर सकते थे। नतीजतन, अब कृषि मशीनरी और उनके स्पेयर पार्ट्स बेचने वाली दुकानें भी लॉकडाउन से मुक्त होंगी और लॉकडाउन के दौरान काम करेंगी। चूंकि रबी की फसलें पकने के लिए तैयार हैं, इन फसलों की समय पर कटाई बहुत जरूरी है। कटाई में किसी भी तरह की देरी किसानों की आजीविका के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकती है।_x000D_ इसे ध्यान में रखते हुए, सरकार ने राजमार्गों पर स्थित पेट्रोल पंपों के साथ-साथ कार्य-केंद्र खोलने की अनुमति दी है। चाय बागानों में, 50 प्रतिशत कर्मचारी खेती को फिर से शुरू करेंगे ताकि लोकडाऊन के दौरान उनकी कमाई कम न हो। इस बीच, सामाजिक भेद और स्वच्छता के सामान्य निर्देशों का पालन करना अत्यंत महत्वपूर्ण है और श्रमिकों से इन मानदंडों का पूरा ध्यान रखने का आग्रह किया जाएगा।_x000D_ स्रोत:- कृषी जागरण, 6 अप्रैल 2020_x000D_ इसी तरह की और अधिक महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए, कृषि वार्ता को पढ़ना न भूले! यदि जानकारी उपयोगी लगे तो लाइक और शेयर जरूर करें!_x000D_
617
0
संबंधित लेख