कृषि वार्ताकृषि जागरण
बंजर जमीन वाले किसानों के लिए खुशखबरी!
सरकार सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने और किसानों की बढ़िया आमदनी के लिए एक अच्छा अवसर प्रदान कर रही है। जिससे सरकार के साथ किसानों और आम जनता को भी लाभ होगा। सरकार सौर बिजली प्लांट के लिए किसानों की बंजर और बेकार जमीन को किराये पर लेकर इस्तेमाल करेगी। किसानों को इस बंजर जमीन का किराया मिलेगा। जिन किसानों के पास 1 एकड़ जमीन है उन्हें सालाना 80 हजार रुपए सरकार देगी। इसे किसान ऊर्जा सशक्तिकरण मिशन (कुसुम) जल्द ही लांच करेगा।
सौर प्लांट के साथ सब्जी उगा सकेंगे - इस योजना के तहत किसान खेतों में सोलर प्लांट के साथ वहां सब्जी और बाकि छोटी फसल भी उगा सकते हैं। नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (एमएनआरई) के अधिकारी ने कहा है कि इस प्लांट को लगाने में 5 एकड़ जमीन की जरूरत पड़ती है। एक मेगावाट सोलर प्लांट से पूरे साल में लगभग 11 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। जिन किसानों के पास अपनी एक एकड़ जमीन है वह उसपर 0.20 मेगावाट का प्लांट लगा सकते हैं। इस प्लांट से सालाना 2.2 लाख यूनिट बिजली पैदा की जा सकती है। कुसुम योजना के अंतर्गत प्लांट को लगाने के लिए किसान से कॉन्ट्रैक्ट साइन करवाया जाएगा। इसके बाद भी जमीन पर मालिकाना हक किसान का ही होगा। इस योजना से किसानों को दोगुना फायदा होगा। एक तो जमीन का किराया मिलेगा और दूसरा किसान उस जमीन पर छोटी फसलों की खेती भी कर सकता है। स्रोत- कृषि जागरण, 22 जनवरी 2019
349
0
संबंधित लेख