अंतरराष्ट्रीय कृषिनोएल फार्म
कृष्‍णा फल (पैशन फल) की खेती
• कृष्‍णा फल एक बेल वाला पौधा है, इसलिए हम कंक्रीट खंबे के पास पौधे लगाते हैं। • जब पौधा छोटा होता है तब पौधे को जाल से ढक दिया जाता है जब पेड़ बड़ा हो जाता है तो जाल हटा दिया जाता है, जिससे पेड़ की बढ़वार अच्छी होती है। • पौधे लगाने के एक माह बाद फैलना शुरू कर देते है। • जब फल बैंगनी रंग में बदल जाता है तो कटाई की जा सकती है। • कृष्‍णा फल विटामिन सी, बीटा क्रिप्टोक्सेंथिन और अल्फा कैरोटीन से भरपूर होता है, जो आपके शरीर के अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं।स्रोत: नोएल फार्म
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
197
0
संबंधित लेख