बागवानीबिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर
अमरुद की फसल में कटाई छटाई का महत्त्व
1. यह कटाई छटाई का सघन बागवानी में बहुत ही महत्त्व पूर्ण स्थान है। ऐसा करने से आप अधिक उत्पादन प्राप्त कर सकते हैं। 2. यह प्रक्रिया साल में 2 बार फरवरी, अक्टूबर कर सकते हैं। 3. इस विधि में पौधों की प्रत्येक टहनी को 50 सेंटीमीटर ऊपर से चाहिए है। 4. टहनी काटने के बाद पत्तियों को नीचे गिरा दिया है, जिससे ज्यादा टहनियां निकलती हैं।
स्रोत - बिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर यदि आपको यह वीडियो उपयोगी लगे तो लाइक करें एवं अपने अन्य कृषि मित्रों के साथ शेयर करें।
58
1
संबंधित लेख