गुरु ज्ञानएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
मक्का में तना छेदक और फॉल आर्मीवर्म का नियंत्रण
गर्मीयों में मक्का सबसे ज्यादा बोई जाने वाली फसल है। इस पर तना छेदक और फॉल आर्मीवर्म के हमले से फसल को भारी मात्रा में नुकसान होता है। साथ ही वह नए पत्तों पर छेदकर फसल को हानि पहुंचाते हैं।
प्रबंधन -_x000D_ • बुवाई से पहले मिट्टी में 100 किलोग्राम नीम केक प्रति एकड़ मिलाएं।_x000D_ • खेत में एक प्रकाश जाल लगाएं।_x000D_ • फसल चक्र विधि का पालन करें।_x000D_ • कीटों के अंडों को इकट्ठा करें और नष्ट कर दें।_x000D_ • तना छेदक के प्रभावी नियंत्रण के लिए बुवाई के 20-25 दिन बाद कार्बोफ्यूरॉन 3 जी @ 8-10 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर दें। _x000D_ • यदि आर्मीवर्म की वृद्धि अधिक हो तो क्लोरोपायरीफॉस 20 ईसी 20 मिली या स्पिनोसैड 45 एससी @ 3 मिली या इमेमिक्टिन बेंजोएट 5 एसजी @ 4 ग्राम या क्लोरैन्ट्रिनिलिप्रोल 18.53 @ मिलीलीटर प्रति 10 लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें। हर छिड़काव में कीटनाशक बदलें। डॉ. टी.एम. भरपोडा, एंटोमोलॉजी के पूर्व प्रोफेसर, बी ए कालेज ऑफ एग्रीकल्चर, आनंद कृषि विश्वविद्यालय, आनंद- 388 110 (गुजरात भारत)
188
0
संबंधित लेख