कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
केंद्र ने 30 हजार टन सस्ते सोया तेल आयात की अनुमति दी
केंद्र सरकार ने पैराग्वे से 10 फीसदी के आयात शुल्क पर 30 हजार टन सस्ते सोया तेल के आयात की मंजूरी दी है। विदेश व्यापार महानिदेशलय (डीजीएफटी) द्वारा जारी अधिसूचना से यह जानकारी मिली। सोयाबीन प्रोसेसर्स एसोसिएशन आफ इंडिया (सोपा) के उपाध्यक्ष ने बताया कि सोया तेल के आयात पर 35 फीसदी आयात शुल्क है जबकि सरकार ने पैराग्वे से 10 फीसदी के आयात शुल्क पर आयात को मंजूरी दी है। इसका असर घरेलू बाजार में खाद्य तेलों और तिलहन की कीमतों पर पड़ेगा। सस्ते आयात के कारण उत्पादक राज्यों की मंडियों में तिलहन के दाम न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से नीचे बने हुए हैं। उत्पादक मंडियों में सोयाबीन के भाव 3,650 से 3,700 रुपये प्रति क्विंटल है जबकि केंद्र ने सोयाबीन का एमएसपी 3,710 रुपये प्रति क्विंटल तय किया हुआ है। सरसों के भाव 3,800 से 3,900 रुपये प्रति क्विंटल है जबकि सरसों का एमएसपी 4,200 रुपये प्रति क्विंटल है। खाद्य एवं अखाद्य तेलों का आयात जुलाई में 26 फीसदी बढ़कर 14,12,001 टन का हुआ है जबकि पिछले साल जुलाई में आयात 11,19,538 टन का हुआ था। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर , 19 अगस्त 2019
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
40
0
संबंधित लेख