जैविक खेतीवसुधा ऑरगॅनिक
छाछ-एक अचूक कीट नियंत्रक
• छाछ को मटके में भरकर खेत के किसी भी पेड़ के नीचे या किसी अधपके गोबर में गाड़ देना चाहिए। _x000D_ • छाछ 20 -25 दिनों तक अच्छी तरह सड़ जानी चाहिए। _x000D_ • अच्छी सड़ी छाछ को 250 -500 मिलीलीटर पानी में मिलाकर फसलों में छिड़कने से अनेक प्रकार की इल्लियों के प्रकोप का नियंत्रण होता है। _x000D_ • इसी तरह 250 मिली निम्बोली काढ़ा एवं 500 मिली लीटर ताजी छाछ के साथ मिलाकर छिड़काव करे ताकि रसचूसक कीट का नियंत्रण हो सके। _x000D_ स्रोत - वसुधा ऑरगॅनिक_x000D_ यह वीडियो आपको महत्वपूर्ण लगा तो लाईक करे और अपने किसान मित्रों के साथ जरूर शेयर करे।_x000D_
223
3
संबंधित लेख