AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
23 Oct 19, 01:00 PM
कृषि वार्ताकृषि जागरण
दक्षिण भारत में फलेगी बिहार की शाही लीची
बिहार में लीची का स्वाद लोग आमतौर पर गर्मी के मौसम में चखते है जबकि दक्षिण भारत के लोग इसी लीची का स्वाद लोग नवंबर और दिसंबर महीने में ही उठाएंगे। दरअसल बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र के निदेशक ने बताया है कि इस बार सर्दियों में कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु में शाही लीची की बागवानी तैयार होगी। इसके लिए राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र द्वारा पिछले सात साल से तैयारी चल रही थी जो कि अब जाकर सफल हुई है। लीची उत्पादन का दिया गया प्रशिक्षण केरल राज्य के वायनाड, इडुक्की, कल्पेटा, कर्नाटक के कोडगु, चिकमंगलूर, हसन और तमिलनाडु के पालानी हिल्स और ऊटी जिलों में लीची की बागवानी शुरू हुई है। इन जिलों के किसानों को लीची बागवानी के लिए प्रशिक्षण दिया गया है। उन्होंने कहा कि वहां की जलवायु लीची उत्पादन के लिए बागवानी का प्रशिक्षण दिया गया है। वहां की जलवायु लीची उत्पादन के लिए ठंड के मौसम में ही अनुकूल है। दक्षिण भारत में नवंबर और दिसंबर माह में लीची के फल फल तैयार हो जाएंगे। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2012-13 में राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र ने दक्षिण भारत के इन राज्यों में लीची बागवानी का प्रयोग शुरू किया था। स्रोत: कृषि जागरण 21 अक्टूबर 2019
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
80
0