एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
आलू का बीज उपचार!
आलू में काली रूसी रोग की रोकथाम के लिए आलू की बुआई के पूर्व बीज को थाईफलूजामाइड़ 24% एससी 2.5 मिली प्रति 10 किलोग्राम बीज आलू बीज की दर से बीजोपचार करें। या स्ट्रेप्टोमाइसिन सल्फेट 90% + टेट्रासिलिन हाइड्रोक्लोराइड 10% एसपी को आलू के बीज के कंद को स्ट्रेप्टोसाइक्लिन में 40 से 100 पीपीएम घोल में आधे घंटे के लिए भिगो दें। यह ब्लैकलेज और सड़न, जीवाणु जनित भूरापन, उकठा को नियंत्रित करता है। 40 से 50 पीपीएम का घोल बनाकर दो से तीन छिड़काव 20 दिनों के अंतराल पर करें। रोपण के 30 दिन बाद पहला छिड़काव करें।
स्रोत- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, यदि आपको आज के सुझाव में दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
10
0
संबंधित लेख