कृषि वार्ताकृषि जागरण
किसान रेल योजना के तहत किसानों को मिलेगी 50% सब्सिडी!
👉केंद्रीय ग्रामीण विकास, कृषि और किसान कल्याण, पंचायती राज और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि ऑपरेशन ग्रीन्स टॉप टू टीओटीएल के तहत सब्सिडी, आत्‍मा निर्भार भारत के लिए एक बड़ा कदम है। 👉ऑपरेशन ग्रीन्स योजना TOP से TOTAL क्या है:- उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय ने भारत के किसानों के लिए विभिन्न योजनाएं लाई हैं। आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत, ऑपरेशन ग्रीन्स योजना TOP से TOTAL ऐसे फलों या सब्जियों की कीमतें ट्रिगर मूल्य से कम होने पर अधिसूचित फलों और सब्जियों के परिवहन और भंडारण पर 50% अनुदान प्रदान करती है। 👉किसान रेल योजना:- MoFPI को ऑनलाइन दावा प्रस्तुत करने के अलावा, अब परिवहन सब्सिडी भी किसान रेल योजना के तहत बहुत ही सरल तरीके से उपलब्ध होगी। किसान सहित कोई भी व्यक्ति किसान रेल के माध्यम से किसी भी अधिसूचित फल और सब्जी की फसल का परिवहन कर सकता है। रेलवे इन फलों और सब्जियों पर केवल 50% भाड़ा वसूल करेगा। भारतीय रेलवे को MoFPI द्वारा ऑपरेशन ग्रीन्स योजना के तहत 50% माल भाड़ा प्रभार सब्सिडी के रूप में प्रदान किया जाएगा। संशोधित योजना दिशानिर्देश 12 अक्टूबर 2020 को मंत्रालय की वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। Image Here 👉ऑपरेशन ग्रीन्स के लिए अन्य शर्तों की छूट में:- किसान रेल योजना के माध्यम से परिवहन के लिए शीर्ष योजना, अधिसूचित फल और सब्जियों की सभी खेप मात्रा और कीमत के बावजूद 50% माल सब्सिडी के लिए पात्र होगी। उल्लेखनीय है कि वर्तमान में रेलवे देवलाली (महाराष्ट्र) और मुजफ्फरपुर (बिहार), आंध्र प्रदेश के अनंतपुर से दिल्ली, बैंगलोर से दिल्ली के बीच तीन किसान रेलों का संचालन कर रहा है और महाराष्ट्र के नागपुर और वारंगल ऑरेंज सिटी से चौथी किसान रेल शुरू करने की योजना बना रहा है। दिल्ली को। 👉योग्य फसलें इस प्रकार हैं:- फल:- आम, केला, अमरूद, कीवी, लीची, मौसम्बी, संतरा, किनवा, नींबू, पपीता, अनार, कटहल, सेब, आंवला, कृष्ण फल और नाशपाती। सब्जियां:- फ्रेंच बीन्स, करेला, बैंगन, शिमला मिर्च, गाजर, फूलगोभी, मिर्च (हरा),भिंडी, ककड़ी, मटर, प्याज, आलू और टमाटर। स्रोत-कृषि जागरण, प्रिय किसान भाइयों यदि आपको दी गयी जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाइक👍करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ जरूर शेयर करें धन्यवाद।
24
5
संबंधित लेख