सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
प्याज की फसल में कन्दों के विकास के लिए महत्वपूर्ण सुझाव!
किसान भाई सभी जानते हैं की कंदों के विकास के लिए प्याज की फसल में खाद एवं उर्वरकों का प्रबंध बहुत ही आवश्यक होता है। इसके लिए प्याज की फसल में खाद एवं उर्वरक का प्रयोग मृदा परीक्षण के आधार पर ही करना चाहिए। गोबर की सड़ी खाद 20-25 टन प्रति हेक्टेयर रोपाई से एक-दो माह पूर्व खेत में डालना चाहिए। इसके अतिरिक्त नत्रजन 100 कि.ग्रा. प्रति हेक्टेयर, फास्फोरस 50 कि.ग्रा. प्रति हेक्टेयर तथा पोटाश 50 कि.ग्रा. प्रति हेक्टेयर देने की अनुसंशा की जाती हैं। इसके अतिरिक्त सल्फर 25 कि.ग्रा.एवं जिंक 5 कि.ग्रा. प्रति हेक्टेयर प्याज की गुणवत्ता सुधारने के लिए आवश्यक होते हैं। इस समय कुछ स्थानों पर प्याज की फसल कंद बनने की अवस्था में है। इसके लिए NPK 0:52:34 @ 75 ग्राम एवं चिलेटेड सूक्ष्म पोषक तत्व @ 15 ग्राम प्रति पंप छिड़काव करें। इस दवाई को अभी खरीदाने के लिए यहाँ ulink://android.agrostar.in/productdetails?skuCode=AGS-CP-337, AGS-CN-310, AGS-CN-252 क्लिक करें। यहां दी गई जानकारी आपको उपयोगी लगी तो, लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ जरूर शेयर करें।
26
0
संबंधित लेख