कृषि वार्ताकिसान समाधान
अब आप भी करा सकेंगे इस पोर्टल पर पंजीकरण और बेच सकेंगे महंगे दामों पर अपनी फसल!
अभी तक देश में समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीदी हेतु प्रत्येक राज्य सरकार द्वारा अपने-अपने राज्यों के किसानों से फसल खरीदी के लिए पंजीकरण करवाया जाता था। जिसके तहत राज्य के किसान अपने नजदीक की मंडी में पंजीकरण के अनुसार अपनी उपज बेच सकते थे। केंद्र सरकार के द्वारा अभी तीन कृषि कानून बना दिए जाने के बाद किसान अब कहीं भी अपनी उपज बेच सकता है। नए कानूनों के चलते अब राज्य सरकारों के द्वारा दुसरे राज्यों के किसानों के लिए भी मंडियों में पंजीकरण खोला जा है। अभी हाल ही में हरियाणा बार्डर पर किसानों को फसल बेचने के लिए रोक दिया गया था परन्तु विरोध के बाद अब किसान पंजीकरण करवाकर अपनी उपज हरियाणा की मंडियों में बेच सकते हैं। मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर करना होगा पंजीकरण:- हरियाणा सरकार ने राज्य से बाहर के किसानों के लिए धान की खरीद हेतु ""मेरी फसल मेरा ब्यौरा"" पोर्टल पर पंजीकरण खोल दिया है। जो भी दुसरे राज्यों के किसान हरियाणा की मंडियों में अपनी उपज बेचना चाहते हैं वह सभी किसान पोर्टल पर पंजीकरण करवा कर बेच सकते हैं। एक सरकारी प्रवक्ता ने इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि सरकार द्वारा यह निर्णय राज्य की विभिन्न मंडियों के आढ़तियों और प्रदेश से बाहर के किसानों की मांग के चलते लिया गया है। उन्होंने बताया कि इससे धान खरीद सीजन के दौरान दूसरे राज्यों के किसानों को अपनी फसल बेचने में मदद मिलेगी। खरीद के दौरान लाए जाने वाले जरूरी कागजात के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि किसानों को अपने साथ इस आशय के दस्तावेजों की प्रमाणित प्रतियां लानी चाहिए कि उन्होंने मालिक या किराएदार के तौर पर अपने खेतों में धान की फसल बोई है। इससे व्यापारियों द्वारा की जाने वाली मुनाफाखोरी में कमी आएगी। अभी तक हरियाणा मंडियों में की गई उपज की कुल खरीद:- हरियाणा की मंडियों में 6 अक्टूबर तक 17,85,582.59 कुंतल धान पहुंची, जिसमें से 1,02,003.165 कुंतल की खरीद हुई। खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पी.के.दास ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि धान की फसल के अलावा, मंडी में 84,930.88 कुंतल बाजरे की आवक हुई, जिसमें से 31,999.26 कुंतल की खरीद हुई। इसके अतिरिक्त, 1,351.33 कुंतल मक्का की आवक हुई, जिसमें से 224 कुंतल की खरीद की गई। क्या है खरीफ फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2020-21:- सरकार ने विपणन सीजन 2020–21 के लिए खरीफ फसलों की एमएसपी की घोषणा पहले ही कर दी है। सरकार द्वारा इन्हीं मूल्यों पर किसानों से खरीदी की जाएगी। धान (ग्रेड ए)- 1888 रुपये, धान (सामान्य) -1868 रुपये, बाजरा -2150 रुपये ज्वार -2620 रुपये मक्का- 1850 रुपये सोयाबीन- 3880 रुपये। स्रोत- किसान समाधान, प्रिय किसान भाइयों यदि आपको दी गयी जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ जरूर शेयर करें धन्यवाद।
42
2
संबंधित लेख