एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
मसूर का बीज उपचार!
मसूर को उकटा एवं जड़ सड़न रोग से बचाव हेतु बीज को बुआई से पूर्व थायरम 2 ग्राम + कार्बेन्डाजिम 1 ग्राम प्रति किलो बीज या ट्राइकोडर्मा विरडी 4 ग्राम प्रति किलोग्राम बीज की दर से उपचारित करें। 10 किग्रा० बीज को मसूर के एक पैकेट 200 ग्राम राइजोबियम लेग्यूमिनोसेरम कल्चर से उपचारित करके बोना चाहिए। विशेषकर उन खेतों में जिनमें पहले मसूर न बोई गयी हो। बीजोपचार एवं रासायनिक उपचार के बाद बीजोपचार किया जाय। पी0 एस0 बी0 का अवश्य प्रयोग करें। 100 ग्राम गुड़ का आधा लीटर पानी में घोल बनायें घोल को गुनगुना गर्म करें तथा ठंडा कर राइजोवियम कल्चर एवं पी एस बी कल्चर मिलाऐं। घोल को बीज के ऊपर समान रूप से छिड़क दें और धीरे-धीरे हाथ से मिलाऐं ताकि बीज के ऊपर कल्चर अच्छे से चिपक जाऐं। उपचारित बीज को कुछ समय के लिए छाँव में सुखाऐं। इसके बाद तुरंत बुआई करें।
यदि आपको आज के सुझाव में दी गई जानकारी उपयोगी लगे, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
2
0