कृषी वार्ताकृषक जगत
प्रधानमंत्री कुसुम योजना में ऑनलाइन आवेदन 15 अक्टूबर तक आमंत्रित!
भोपाल. प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा एवं उत्थान महाअभियान योजना (पीएम कुसुम) के तहत किसानों के आर्थिक विकास के लिए सौर संयंत्र की स्थापना ग्रामीण क्षेत्रों के चयनित विद्युत सब स्टेशनों के समीप स्थित भूमि पर करने के लिए इच्छुक किसानों की सहमति के लिए ऑनलाईन पोर्टल कार्यशील हो गया है। किसान www.cmsolarpump.mp.gov.in वेबसाईट पर संपर्क कर सकते है। जिला अक्षय ऊर्जा अधिकारी राजेंद्र गोयल ने बताया कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को आर्थिक रूप से सृदृढ करना है। योजना के तहत किसान अपने खेत की बंजर या अनुपयोगी भूमि में सोलर संयंत्र की स्थापना स्वयं के द्वारा या किसी निवेशक के साथ संयुक्त रूप से कर सकते है, जिससे किसान को एक नियमित आय प्राप्त हो सकेगी। योजना के तहत 500 किलोवाट से 2 मेगावाट क्षमता तक के संयंत्रों की स्थापना की जाना प्रस्तावित है। इस योजना से विशेषकर कम भूमि वाले किसानों की निर्भरता पूर्ण रूप से कृषि पर नहीं रहेगी। उन्हे सोलर संयंत्र से एकमुश्त नियमित आय होती रहेगी। पूरे प्रदेश में अभी कुल 910 सब स्टेशनों पर योजना का प्रथम चरण प्रारंभ किया जा रहा है। किसानों के लिए 300 मेगावॉट का विशेष पैकेज जिला अक्षय ऊर्जा अधिकारी गोयल ने बताया कि इस योजना के तहत किसानों के लिए 300 मेगावाट का विशेष पैकेज है, जिसमें किसानों को स्वावलंबी बनाने के लिए भारत सरकार की पीएम कुसुम योजना है। अक्षय ऊर्जा स्त्रोतों पर आधारित 500 किलोवॉट से 2 मेगावॉट तक के विकेंद्रीकृत संयत्र की स्थापना, किसान, किसान समूह, सहकारी संस्थान, पंचायत, फॉरमर प्रोड्यूसर आर्गेनाईजेशन, वॉटर यूजर एसोसिएशन अथवा डेवलपर के माध्यम से भी योजना के तहत पात्रता रहेगी। इस योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन सहमति 15 अक्टूबर 2020 तक दर्ज की जा सकती है। जैसे ही चिन्हित सब स्टेशनों के आसपास के किसानों की सहमति प्राप्त होती है, संयंत्र स्थापना के लिए अग्रिम कार्यवाही की जाएगी। स्रोत:- कृषक जगत, 26 सितंबर 2020, प्रिय किसान भाइयों यदि आपको दी गयी जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ जरूर शेयर करें धन्यवाद।
92
11
संबंधित लेख