सलाहकार लेखकृषि जागरण
छोटे या बड़े स्तर पर करें ये बिजनेस होगा बम्पर फायदा
ट्रैक्टर सर्विस का बिजनेस ग्रामीण क्षेत्रों में शुरू करना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। जैसा कि ग्रामीण भारत में रहने वाले ज्यादातर लोग किसान हैं और उन्हें काम करने के लिए ट्रैक्टर की आवश्यकता होती है। इसलिए यह कमाई का एक अच्छा विकल्प हो सकता है. आज हम आपको अपने इस लेख में ट्रैक्टर सर्विस बिजनेस के बारे में बताएंगे, तो आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से....ट्रैक्टर सर्विस बिजनेसग्रामीण क्षेत्र में, किसानों की आजीविका केवल खेती पर निर्भर है। वे पूरे देश के लिए खाद्यान्न का उत्पादन करते हैं। ट्रैक्टर न केवल खेतों की जुताई में उपयोगी होता है, बल्कि अनाज, चारा, घास आदि लाने में भी उपयोगी होता ह। इसके अलावा, ट्रैक्टरों का उपयोग कई अन्य कार्यों के लिए भी किया जाता है जैसे भवन से संबंधित सामग्री आदि लाना। ट्रैक्टर सर्विस बिजनेस लाभदायक क्यों है ?हां, आज के समय में, ट्रैक्टर सेवा बिजनेस एक बहुत ही लाभदायक बिजनेस साबित हो सकता है। ग्रामीण क्षेत्र में मुख्य बिजनेस का 70 फीसद से अधिक हिस्सा कृषि से संबंधित है। और ग्रामीण इलाकों में रहने वाले ज्यादातर लोगों के पास अपनी जमीन है और यही कारण है कि बड़े पैमाने पर किसान ट्रैक्टर खरीदते हैं।ट्रैक्टर सर्विस का बिजनेस कैसे शुरू करें ?इस बिजनेस को बहुत आसानी से शुरू किया जा सकता है, यदि कोई किसान या कोई व्यक्ति जिसके पास 8 लाख रुपए तक डिपॉजिट हैं, हालांकि , यदि आपके पास इतनी पूंजी नहीं है, तो आप इसे किस्त पर कर सकते हैं। जिसके लिए, आपको पहले 3 लाख रुपए का डाउन पेमेंट करना होगा, और फिर महीने के बाद किस्त का भुगतान करना होगा।सही स्थान का चयन करेंयाद रखें, पहले यह सुनिश्चित करें कि आपके द्वारा चुना गया स्थान मांग में है या नहीं, कितने लोग उस क्षेत्र में ट्रैक्टर का इस्तेमाल कर रहे हैं। फिर, यदि संभव हो, तो किसानों से मिलने का प्रयास करें। उन्हें अपने बिजनेस से रूबरू करवाएं।ट्रैक्टर कैसे खरीदें ?अपने नजदीकी ट्रैक्टर शोरूम में जाएं और ट्रैक्टर खरीदें। कई भारतीय कंपनियां भी हैं जो ट्रैक्टर बनाती हैं। आप किसी एक कंपनी को चुन सकते हैं। अगर आप किसी इंस्टॉलेशन(क़िस्त) पर ट्रैक्टर लेना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों जैसे- आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक पासबुक, फोटो पहचान पत्र और आरटीओ के साथ पंजीकरण की आवश्यकता होगी।
स्रोत- कृषि जागरण, यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो इसे  लाइक करें तथा अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
5
2
संबंधित लेख