विडिओएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
अरंडी की फसल में सेमीलूपर (इल्ली) का नियंत्रण!
अरंडी की फसल को सेमीलूपर इल्ली छोटी अवस्था में पत्तियों को खरोंच कर और लेकिन बड़ी अवस्था में नसों को छोड़कर पत्तियों को खाती हैं। यह अपनी छोटी अवस्था में पत्तियों के क्लोरोफिल को खा कर नुकसान पहुंचती है। पत्तियां खाने वाली इल्ली पत्तियों के निचले हिस्से में रहतेी हैं, जहां सेमिट्रांसेंट स्पॉट दिखाई देता है। यह पत्तियों, शीर्ष भाग और कैप्सूल को नुकसान पहुँचती है। प्रबंधन: पतंगा को आकर्षित करने के लिए प्रकाश जाल को स्थापित करें। पत्तियों पर इल्ली और अण्डों को इक्क्ठा क्र नष्ट करें।बैसिलस थुरिंगिएन्सिस (बैक्टीरिया आधारित पाउडर) @ 1 - 1.5 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर छिड़काव करें। अरंडी पर इल्ली को नियंत्रित करने के लिए न्यूक्लियर पॉलीहेड्रोसिस वायरस (एसएनपीवी) @ 250 LU प्रति हेक्टेयर छिड़काव करें। आम तौर पर, शिकारी पक्षीयों को आकर्षित करने के लिए T आकर के ट्रैप लगाएं। नीम बीज कर्नेल निलंबन @ 5% का छिड़काव करें।
स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
10
2
संबंधित लेख