योजना और सब्सिडीkvsrokolkata.org
भावांतर भुगतान योजना ऑनलाइन आवेदन!
भावांतर भुगतान योजना को मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानो को उनकी फसलों का सही लाभ पहुंचाने के लिए आरम्भ करने जा रहे है इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार उन सभी किसानों के बैंक खातों में बिक्री मूल्य (मंडियों में) और लाभकारी मूल्य के बीच अंतर का भुगतान करेगी। मध्य प्रदेश में यदि किसानो द्वारा खरीफ फसलों को बाजार में न्यूनतम समर्थन मूल्यों (MSP) की तुलना में कम कीमत पर बेचा जा रहा है, तो वे अपने नुकसान को कवर करने के लिए Bhavantar Bhugtan Yojana के लिए आवेदन कर सकते हैं। भावांतर योजना योजना पंजीकरण - राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करना होगा। MP Bhavantar Bhugtan Yojana के तहत सरकार द्वारा किसानो को लाभ सीधे लाभार्थियों के बैंक अकाउंट में स्थान्तरित किया जायेगा इस इसलिए आवेदक का अपना बैंक अकाउंट होना चाहिए और बैंक अकाउंट आधार कार्ड लिंक होना चाहिए। इस योजना के अंतर्गत मध्य प्रदेश सरकार ई उपार्जन आधिकारिक वेबसाइट http://mpeuparjan.nic.in/ के माध्यम से मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना के लिए किसानों से ऑनलाइन पंजीकरण आमंत्रित कर रही है। इस ऑनलाइन पोर्टल पर राज्य के इच्छुक लाभार्थी आसानी से आवेदन कर सकते है। भावांतर भुगतान योजना में शामिल फसलें खरीफ की फसलों मे समर्थन मूल्य मे आने वाली फसलें :- धान, उड़द, तुअर और मूंग खरीफ की फसलों मे भावांतर योजना मे शामिल फसलें :- मक्का, सोयाबीन, ज्वार, बाजरा, मूंगफली, तिल और रामतिल भवान्तर भुगतान योजना अब राज्य में कपास, मूंग, गेहूं, उड़द, बाजरा, चावल, ज्वार, सोयाबीन, मूंगफली, तिल, रामतिल, मक्का और तूर दाल सहित 13 फसलों के लिए शुरू की गई है। भावांतर भुगतान योजना के लाभ इस योजना का लाभ मध्य प्रदेश के किसानों को प्रदान किया जाएगा। भावांतर भुगतान योजना के तहत, राज्य के किसानों को बैंक खाते में बिक्री मूल्य और पारिश्रमिक मूल्य के बीच अंतर का भुगतान करेगा। परिणामस्वरूप, उन्हें किसी भी तरह का नुकसान नहीं उठाना पड़ेगा। राज्य के किसानो को सरकार से वित्तीय सहायता प्राप्त करके आसानी से अगले सीजन में फसलों की बुवाई कर सकेंगे, इससे किसानों की आय भी बढ़ेगी। इस योजना के तहत, सरकार उन सभी किसानों को पूर्ण मूल्य घाटे (भाव + अंतर) का भुगतान करेगी, जो न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से नीचे कृषि उपज बेचते समय नुकसान झेलते हैं। किसान पंजीयन के लिए आवश्यक निर्देश: किसान अपना पंजीयन आधार नंबर एवं समग्र आई डी के आधार पर कर सकते है। पंजीयन के लिए आधार अथवा समग्र आई डी का होना अनिवार्य है। यदि किसान के पास आधार नं और समग्र आई डी दोनों उपलब्ध नहीं है, तो कृपया नजदीकी ग्राम पंचायत से संपर्क करें। किसान अपनी परिवार समग्र आई डी से सदस्य समग्र आई डी खोज सकते है। बैंक खाता क्रमांक पासबुक मे से देख कर सही प्रविष्ट करें। यदि आधार नंबर लोड नहीं हो रहा हो तो समग्र आई डी से अपना पंजीयन करें। पंजीयन के पश्चात् पावती प्रिंट करें तथा खरीदी के समय पावती ले जाना अनिवार्य है। पंजीयन के लिए मोबाइल नंबर होना अनिवार्य है। भावांतर भुगतान योजना के दस्तावेज़: आधार कार्ड, निवास प्रमाण पत्र, पहचान पत्र, सिकमी/पट्टा भूमि के लोन पासबुक, बैंक अकाउंट पासबुक, मोबाइल नंबर, पासपोर्ट साइज फोटो।
स्रोत:- http://kvsrokolkata.org, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
195
37
संबंधित लेख