सलाहकार लेखविकासपीडिया
बैंगन में फल सड़न का नियंत्रण
किसान भाइयों बैंगन की फसल में फल सड़न की समस्या को फोमोप्सिसफल सड़न के नाम से भी जाना जाता है यह फफून्द के कारण होने वाला एक बीज जनित रोग है। प्रभावित पत्तियों पर प्रारंभ में छोटे-छोटे गोल भूरे धब्बे बन जाते हैं तथा बाद में अनियमित आकार के काले धब्बे पत्तियों के किनारों पर दिखाई देते हैं। रोगी पत्तियां पीली पड़कर सूख जाती है। फलों पर धूल कणों के समान भूरी रचनाएं दिखाई पड़ती हैं जो बाद में बढ़कर काले धब्बों के रूप में दिखाई देने लगती है। इस रोग के नियंत्रण के लिए बाविस्टिन (2 ग्रा./कि.ग्रा. बीज) से बीजोपचार के बाद बुआई करें तथा फसल पर 0.1% बाविस्टिन का घोल बनाकर 10 दिनों के अंतर पर पौधों की प्रारंभिक अवस्था में 2-3 बार छिड़कें। इसके अलावा कार्बेंडाजिम 50% डब्ल्यू पी @ 120 ग्राम प्रति एकड़ 240 लीटर पानी में घोलकर फसल पर छिड़काव करें। 
स्रोत- विकासपीडिया,  प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!  
7
0
संबंधित लेख