एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
धान में हिस्पा कीट का नियंत्रण
किसान भाइयों धान की फसल में लगने वाले इस कीट के गिडार पत्तियों में सुरंग बनाकर हरे भाग को खाते हैं, जिससे पत्तियों पर फफोले जैसी आकृति बन जाती है।प्रौढ़ कीट पत्तियों के हरे भाग को खुरच कर खाते हैं। इस कीट के नियंत्रण के लिए निम्न में से किसी एक रसायन का उपयोग कर सकते हैं :- 1. क्यूनालफॉस 25% जेल @ 400 मिली० को 200 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।  2. लैम्ब्डा-सायहेलोथ्रिन 05.00% ई सी @ 125 मिली० मात्रा को 200 लीटर पानी में घोलकर फसल पर छिड़काव करें।  3.  इमिडाक्लोप्रिड 06.00% + लैम्ब्डा-सायहेलोथ्रिन 04.00% एस एल @ 120 मिली० मात्रा को 200 लीटर पानी में घोलकर फसल पर छिड़काव करें।
19
1
संबंधित लेख