एग्री डॉक्टर सलाहतमिलनाडु एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी
बैंगन में जड़ गाँठ सूत्रकृमि (निमेटोड ) का प्रकोप
किसान भाइयो देश के विभिन्न भागों में उगाई जाने वाली बैंगन की फसलें विशेष रूप से जड़ गाँठ सूत्रकृमि (रूट नॉट निमेटोड) संक्रमण के लिए अतिसंवेदनशील होती हैं। इसके प्रकोप से रोगी पौधों की जड़ों में गाँठें बन जाती हैं रोगी पौधा बौना रह जाता है, पत्तियां पीली होकर लटक जाती हैं इस रोग के कारण पौधा पूरी तरह से नष्ट नहीं होता किन्तु गांठो के सड़ने पर सूख जाता है। इसके नियंत्रण के लिए नीम की खली 100 किग्रा० प्रति एकड़ की दर से प्रयोग करें अथवा गर्मियों में खेत की गहरी जुताई करके कुछ दिनों के लिए छोड़े या कॉर्बोफ्यूरॉन 3.00% सी जी @26.64 किग्रा० प्रति एकड़ की दर से प्रयोग करें। 
स्रोत - तमिलनाडु एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी, प्रिय किसान भाइयों यदि दी गयी जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।   
8
1
संबंधित लेख