कृषि वार्ताद इकोनॉमिक टाइम्स
मध्यप्रदेश खेत तीर्थ योजना!
मध्यप्रदेश सरकार ने किसानों के लिए मुख्यमंत्री खेत तीर्थ योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत सरकार किसानों को राज्य में कई जगहों का दौरा कराती है। इससे किसानों को खेती की नई तकनीक से रूबरू होने का मौका मिलता है। राज्य सरकार इन किसानों को देश के उन्नत कृषि तकनीकी संस्थान, कृषि महाविद्यालयों एवं कृषि शोध एवं अनुसंधान संस्थानों, कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा आयोजित प्रदर्शनी देखने का मौका भी उपलब्ध कराती है। योजना का उद्देश्य किसानों को खेती की नई तकनीक का जानकारी देना है। इससे एक तरफ जहां कृषि उत्पादकता बढ़ाने में मदद मिल रही है वही किसानों की कमाई भी बढ़ रही है। इस योजना से किसानों का सशक्तिकरण हो रहा है। इन क्षेत्रों में मिलती है नई तकनीक की जानकारी किसानों को चारागाह विकास, रेशम पालन, पशुपालन की उत्तम व्यवस्था, बीज पैदावार आदि की तकनीकी जानकारी दी जाती है। उन्हें सार्वजनिक उपक्रमों, गैर सरकारी संगठनों द्वारा संचालित क्षेत्रीय कृषि अनुसंधान केन्द्र में जाने की सुविधा दी जाती है। कैसे करें आवेदन? 1- आवेदनकर्ता मध्य प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए। 2- आवेदक किसान होना चाहिए। 3-बीपीएल राशन कार्ड (यदि उपलब्ध हो)। 4-खेती के मालिकाना हक से जुड़े कागजात। कौन-कौन से दस्तावेज जरूरी? 1- आवेदनक के पास आधार कार्ड का होना चाहिए। 2- आवेदन करने के लिए पहचान पत्र होना आवश्यक है। 3-आवेदनकर्ता के पास आय प्रमाण होना चाहिए। कैसे करें ऑनलाइन आवेदन? सबसे पहले मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री तीर्थ योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इस वेबसाइट पर क्लिक करने के बाद आपको मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री तीर्थ योजना लिंक दिखाई देगा। उस लिंक पर क्लिक करके सभी जरूरी जानकारी भर सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए आप इस लिंक पर जायें http://mpkrishi.mp.gov.in/hindisite/Paripatra.aspx स्रोत:- द इकोनॉमिक टाइम्स, 18 May 2020, प्रिय किसान भाइयों यदि आपको दी गयी जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
61
13
संबंधित लेख