कृषि वार्तागाँव कनेक्शन
उत्तर प्रदेश में यूरिया की किल्लत पर बढ़ा निर्णय -कृषि मंत्री
*यूपी में यूरिया की किल्लत पर बोले कृषि मंत्री, हमारे पास पर्याप्त स्टॉक, महंगी यूरिया बेचने वाले दुकानदारों के लाइसेंस होंगे निरस्त* लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कई दिनों से यूरिया के लिए किसानों के बीच चल रही मारामारी पर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने आज किसानों को आश्वासन दिया कि प्रदेश में किसानों के लिए यूरिया का स्टॉक पर्याप्त है और किसी भी किसान को यूरिया की कमी नहीं होगी। कृषि मंत्री ने अधिकारियों को यह भी आदेश दिए कि जिलों में किसानों को महंगे दामों में यूरिया बेचने वाले दुकानदारों के लाइसेंस निरस्त किये जाएँ। *यूपी में यूरिया का पर्याप्त स्टॉक* कृषि मंत्री के मुताबिक, खरीफ के सीजन में इस साल 15 अगस्त तक 27.31 लाख मीट्रिक टन यूरिया प्रदेश में आ चुकी है, इसमें भी करीब 21 लाख मीट्रिक टन यूरिया बिक्री की जा चुकी है, ऐसे में अभी भी 6.89 लाख मीट्रिक टन से ज्यादा यूरिया स्टॉक में है। मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा, "प्रदेश में सहकारी क्षेत्र में 18 अगस्त तक 12.79 लाख मीट्रिक टन यूरिया उपलब्ध है जबकि निजी विक्रेताओं के पास यही आंकड़ा 12.88 लाख मीट्रिक टन है, यानी पिछले साल की अपेक्षा उन्हें 5.25 लाख मीट्रिक टन ज्यादा आपूर्ति की जा चुकी है। अभी तीन दिन के भीतर पांच रैक यूरिया गोरखपुर, उन्नाव, देवरिया और मुरादाबाद जैसे जिलों में भी पहुँच जायेगी, ऐसे में सभी किसानों को यूरिया मिलेगी।" *कालाबाजारी करने वाले दुकानदारों पर होगी कार्रवाई* निजी खाद विक्रेताओं के महंगे दामों में यूरिया बेचने के सवाल पर कृषि मंत्री ने कहा, "सभी जिलों के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि निजी खाद विक्रेताओं के यहाँ छापेमारी करें और अनियमतता पाए जाने पर सख्त से सख्त कारवाई करें। अधिक दामों में यूरिया बेचने वाले विक्रेताओं का लाइसेंस निरस्त किया जायेगा।" कृषि मंत्री ने यह भी कहा, "इसके अलावा जिले में यूरिया के टॉप 10 खरीदारों को भी चिन्हित किये जाने के निर्देश दिए गए हैं ताकि किसान यूरिया का स्टॉक न कर पायें। साथ ही प्रदेश में यूरिया की खरीद को सरकार क्यूआर कोड के जरिये ऑनलाइन करने पर काम कर रही है, इसके लिए इफको के अधिकारियों को भी निर्देशित किया गया है और हमारा प्रयास है कि डिजिटल पेमेंट के जरिये जल्द ही खरीद हो।" स्रोत - गाँव कनेक्शन, 19 अगस्त 2020 प्रिय किसान भाइयों यदि आपको दी गयी जानकारी उपयोगी लगी तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
104
11
संबंधित लेख