एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
अनार में फल छेदक कीट का दुष्प्रभाव!
इस कीट की सुंडी फल में प्रवेश कर विकासशील बीजों को खाकर नुकसान पहुँचता है। सूक्ष्मजीव ऐसे क्षतिग्रस्त फलों में प्रवेश करते है और फल सड़ने लगते हैं। इसके अलावा, ऐसे क्षतिग्रस्त फलों से खराब गंध निकलती है। फल की गुणवत्ता बिगड़ने से उत्पादन पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। मानसून के मौसम में इस कीट से अधिक क्षति होती है। इसके नियंत्रण के लिए साइंट्रानिलिप्रोएल 10.26% ओडी @ 10 मिली/पम्प छिड़काव करें।
यदि आपको आज के सुझाव में दी गई जानकारी उपयोगी लगे, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
14
1
संबंधित लेख