योजना और सब्सिडीहिंदी योजना
राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना!
अगर आप राजस्थान के रहने वाले हैं और गौपालन के जरिये रोजगार पाना चाह रहे हैं तो यह योजना आपके बहुत काम की है | इस लेख में राजस्थान कामधेनु डेरी योजना की सम्पूर्ण जानकारी आपको दी जा रही है, जिसे आपको आवेदन करने से पहले अवश्य पढ़ना चाहिए। कामधेनु डेयरी योजना की कुछ मुख्य बातें सरकार द्वारा चलाई जा रही इस योजना का लाभ राज्य के वह सभी लोग ले पाएंगे जो पशुपालन का कार्य करते हैं, या कर चुके हैं। कामधेनु डेयरी योजना खोलने की कुल लागत 36.68 लाख रूपए है। जिसमें से आवेदक को केवल 10 प्रतिशत ही निवेश करना होगा वंही इसके अलावा बचा हुआ 90 प्रतिशत बैंक से लोन के जरिए दिया जाएगा। वंही लोन की रकम समय पर वापिस करने पर आवेदक को 30 प्रतिशत तक की सब्सिडी भी दी जाएगी। इस योजना में अधिक मात्रा में दुध देने वाली 30 गाय एक ही नस्ल की होंगी। आवेदक के पास डेयरी खोलने के लिए पर्याप्त मात्रा में धन, भूमि और कम से कम एक एकड़ जमीन हरा चारा उत्पादन करन के लिए होनी चाहिए। कामधेनु डेयरी योजना के लाभ इस योजना का लाभ उन सभी लोगों को होगा जिन्होने पशु पालन का कार्य किया हुआ है। योजना के जरिए लोग आत्मनिर्भर बनेंगे और अधिक मात्रा में रोजगार के अवसर पैदा होंगे। डेयरी योजना की वजह से प्रदेश के लोगों को बेहतर क्वालिटी का दूध उचित दामों पर मिल पाएगा, जिससे उनका इम्यून सिस्टम भी मजबूत होगा। इस योजना का लाभ प्रदेश की महिला, युवा और वृद्ध व्यक्ति भी उठा पाएंगे। योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को केवल 10 प्रतिशत ही पैसा निवेश करना होगा। लोन के तौर पर दी गई रकम को समय पर चुकाने वाले व्यक्ति को 30 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी। पशुपालकों को सही तरह से प्रशिक्षित किया जाएगा, ताकि वह डेयरी के जरिए अच्छा मुनाफा कमा सकें। कामधेनु डेयरी से जुड़ी हुई शर्तें आवेदक को पशुपालन में कम से कम 3 साल का अनुभव होना अनिवार्य है। योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक के पास डेयरी खोलने के लिए खुद की जमीन होनी अनिवार्य है। आवेदक के पास गायों के हरा चारा मुहैया कराने के लिए एक एकड़ भूमि होनी चाहिए। योजना में आवेदन करने वाले व्यक्ति को डेयरी की कुल लागत का 10 प्रतिशत खुद ही वहन करना होगा योजना का लाभ उठाने के लिए 30 जून तक ही आवेदन करना होगा। आवेदक राजस्थान राज्य का निवासी हो, अन्य किसी राज्य के लोग इस योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे। डेयरीका संचालन स्थानीय निकाय के प्रतिबंधित क्षेत्र से बाहर किया जाएगा। राजस्थान कामधेनु योजना में आवेदन हेतु दस्तावेज राजस्थान के निवासी होने का प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, मोबाइल नंबर, बैंक खाता, पशु पालन से संबंधित कोई दस्तावेज कामधेनु डेयरी योजना की आवेदन प्रक्रिया अब जो भी लोग इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं, या योजना से जुड़ी कुछ अन्य जानकारियां जानना चाहते हैं, वह इस साइट पर जा सकते हैं। https://gopalan.rajasthan.gov.in/ साइट से आपको फॉर्म डाउनलोड करना होगा और इसका प्रिंट निकलाना होगा। फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी सही तरह से भर कर और मांगे गए दस्तावेज की कॉपी फॉर्म के साथ अटैच करके जमा करानी होगी। इसके बाद आवेदन फॉर्म की जांच होगी और सभी जानकारी सही पाई जाने पर आवेदन स्वीकार कर लिया जाएगा।
स्रोत:- हिंदी योजना, किसान भाइयों यदि आपको दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें एवं अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
186
48
संबंधित लेख