एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
बैंगन की फसल में लगने वाले हरा तेला कीट का नियंत्रण!
बैंगन की फसल में हरा तेला कीट हरे रंग के शिशु व प्रौढ़ कोमल पत्तियों की निचली सतह से रस चूसते हैं। पत्तियां पीली व कमजोर होकर गिरने लगती हैं। जिससे पौधों की वृद्धि नहीं हो पाती है। उत्पादन के ऊपर इसका विपरीत प्रभाव पड़ता है। इसके नियंत्रण के लिए साइपरमेथ्रिन 25.00% ई.सी. @ 60 मिली दवाई को 200 लीटर पानी में मिलाकर प्रति एकड़ की दर से छिड़काव करें।
स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
8
2
संबंधित लेख