एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
ग्वार की फसल जीवाणु अंगमारी रोग का नियंत्रण!
जीवाणु अंगमारी यह रोग जीवाणु द्वारा फैलता है। यह ग्वार फसल का एक भयंकर रोग है, जिसके कारण ग्वार की पैदावार पर प्रतिकूल असर पड़ता है। जीवाणु अंगमारी बीमारी के कारण पत्तियों की निचली सतह पर गोल नसों के बीच में पानी व तेल जैसी सोखी हुई आकृतिनुमा धब्बे बन जाते हैं। ये धब्बे बढ़कर पूरी पत्ती को ढक लेते हैं। तनों में दरार भी पड़ जाती है। इसकी रोकथाम के लिए किसान कल्याण एवं कृषि विभाग मध्यप्रदेश द्वारा रोग प्रतिरोधी किस्में जैसे एच.जी.-365 व एच.जी.-563 लगाना चाहिए। बीजों को 100 पी.पी.एम. स्ट्रेप्टोसायक्लिन से उपचारित करना चाहिए। पौधों की पत्तियों पर स्ट्रेप्टोसायक्लिन 150 पी.पी.एम. 0.2 प्रतिशत ब्लीटोक्स के मिश्रण का छिडकाव करना चाहिये।
स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
10
0
संबंधित लेख