सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
फूलगोभी में उचित खाद व उर्वरक अपनाएं बंपर उत्पादन पाएं!
फूलगोभी की रोपाई से पहले खेत तैयार करते समय 150-200 कुंटल /हेक्टेयर की दर गोबर की खाद को भूमि में अच्छी तरह से मिला देना चाहिए, खेत में सदैव मृदा परीक्षण के पश्चात् ही उर्वरकों का प्रयोग करना चाहिए, किन्ही कारणों से यदि मृदा परीक्षण न हो पाए तो नाइट्रोजन 120 किलोग्राम/हेक्टेयर, फॉस्फोरस 60 किलोग्राम/हेक्टेयर, पोटॉस 40 किलोग्राम/हेक्टेयर की दर से प्रयोग करना चाहिए। नाइट्रोजन की आधी मात्रा यानि 60 किलोग्राम तथा फॉस्फोरस और पोटॉस की पूरी मात्रा खेत की तैयारी के समय अंतिम जुताई के समय खेत में मिला देना चाहिए, शेष नाइट्रोजन की मात्रा को दो भागों में बांटकर पहला भाग यानि 30 किलोग्राम को रोपाई के एक माह बाद तथा दूसरी 30 किलोग्राम मात्रा को फूल बनते समय टॉपड्रेसिंग के रूप में देना चाहिए, बोरोन की कमी होने पर 0.3% का छिडकाव करना चाहिए।
स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
11
0
संबंधित लेख