एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
मिर्च में पर्ण कुंचन रोग का नियंत्रण!
इस रोग के कारण मिर्च की पत्तियां छोटी होकर मुड जाती हैं। पत्तियों की शिराएं मोटी हो जाती है जिससे पत्तियां मोटी दिखाई पड़ती है, पौधौं की बढ़वार रूक जाती है, पौधे झाड़ीनुमा दिखाई पडते हैं। पौेधों पर फल लगना कम हो जाते हैं फल लगते भी हैं तो कुरूप हो जाते हैं। यह वायरस सफेद मक्खी द्वारा एक पौधे से दूसरे पौधे में फैलता है। इस बीमारी के प्रबंधन के लिए रस चूसक कीटों की सामूहिक रोकथाम ही सर्वाधिक उचित उपाय है। इस रोग की रोकथाम के लिए सफ़ेद मक्खी का नियंत्रण जरुरी है। इसके लिए फेनप्रोपथ्रिन 30.00% ई.सी. @ 120 मिली 300 लीटर पानी के साथ छिड़काव करें।
यदि आपको आज के सुझाव में दी गई जानकारी उपयोगी लगे, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
30
21
संबंधित लेख